Motivational Story In Hindi For Success सफलता की भूख

Motivational Story In Hindi For Success
Motivational Story In Hindi For Success

‘भूख’ एक ऐसी शब्द है, जिस शब्द से शायद ही किसी की मुलाकात ना हुई हो। चाहे वह अमीर हो या गरीब। चाहे राजा हो या भिखारी। भूख सबको होती है। वह भूख ही होती है, साहब जिसे बस स्टॉप पर नारियल और भुजा बेचवाती है।

वह भूख ही होती है, साहब जो किसी से सड़क किनारे बैठ दूसरों की जूते पालिश करवाती है। वह भूख ही होती है, साहब जो घर से रोज किसी को 50 किलोमीटर दूर काम करने के लिए दौड़वाती है।

Motivational Story In Hindi For Success

वह भूखी होती है, साहब जो किसी को घर से हजारों किलोमीटर दूर रहने को विवश करती है। और यह भूख किस प्रकार की होती है, तो ‘खाने की भूख’ ‘पैसे की भूख’ ‘पेट की भूख’  ‘सफलता की भूख’  ‘कुछ बड़ा करने की भूख ‘ .

हम सब किसी न किसी चीज के भूखे हैं। और इस भूख को शांत करने के लिए हमे कुछ खाने को चाहिए। इंसान हमेशा भूखे ही रहते हैं। जिंदगी की पहली सांस से लेकर अंतिम सांस तक, कोई तो भूख होती ही है। तो क्यों नहीं हम अपने अंदर सफलता की भूख पाले, कुछ बड़ा करने की भूख पाले।  ऐसी भूख जो आपको अपनी पहचान दिलाए। सफलता से कुछ कदम पहले

इतिहास उठा कर देखिए  इस दुनिया में जिसने भी अपनी पहचान बनाई वह सब अपने सपने व् मंजिल के भूखे थे। चाहे वह राइट बंधू हो या ग्राहम बेल या अनेक प्रसिद्ध  नामे।

राइट बंधुओ ने भी 11 और 7 वर्ष की उम्र में ही अपने अंदर हवाई जहाज बनाने की भूख पाल ली थी। जोकि उन दिनों हवाई जहाज के बारे में सोचना एक सपना ही नहीं नामुमकिन लग रहा था। लेकिन राइट बंधुओं ने अपनी इस भूख को सफलता में तब्दील किया।

एक इवेंट के दौरान जब उन्होंने कहा था कि हम एक ऐसी चीज का निर्माण कर रहे है, जो लोहे से बनी हुई यान होगी और हवा में उड़ेगी। यह सुन वहां पर मौजूद सभी   लोग  उन पर हंसने लगें। और इवेंट में आए लोगों ने बोला – सुई को तो हवा में उड़ा नहीं सकते यह हवाई जहाज हवा में उड़ाने चले हैं। लेकिन इन राइट बंधुओ पर इस प्रतिक्रिया का कोई असर नहीं पड़ा और वह अपने भूख को मिटाने में लगे रहे।

अंत में उन्हे अपनी भूख की सफलता प्राप्त हुई। ऐसे ही कितने सैकड़ों हजारों भूखे लोग जो इतिहास से चले आ रहे हैं, और अपने भूख को खत्म कर सफलता प्राप्त की। तो क्या आप अपने अंदर सफलता की भूख नहीं पाल सकते हैं, जो आपको आने वाली कई पीढ़ियों तक दुनिया याद करें।

 

सफलता हमारा परिचय दुनिया को करवाती है,

और असफलता हमें दुनिया का परिचय करवाती है।

जय हिंद

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*